Header Ads

ब्राजील में मरने वालों का आंकड़ा एक लाख के करीब पहुंचा, फ्रांस में अप्रैल के बाद सबसे ज्यादा मामले; दुनिया में अब तक 1.95 करोड़ केस

दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 1 करोड़ 95 लाख 41 हजार 216 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 25 लाख 44 हजार 479 मरीज ठीक हो चुके हैं। 7 लाख 24 हजार 050 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े https://ift.tt/2VnYLis के मुताबिक हैं। ब्राजील में हालात काबू में होते नजर नहीं आते। यहां मरने वालों का आंकड़ा शनिवार सुबह 99 हजार 572 हो गया। फ्रांस में अप्रैल के बाद मामले तेजी से बढ़ते दिख रहे हैं।

ब्राजील : महंगी पड़ी लापरवाही
सरकार के स्तर पर हो या आम लोगों के। ब्राजील में लापरवाही संक्रमण की सबसे बड़ी वजह मानी जा रही है। यहां अब भी लोग न तो नियमों का पालन कर रहे हैं और न ही डब्ल्यूएचओ की वॉर्निंग को गंभीरता से ले रहे हैं। नतीजा यह है कि यहां मरने वालों का आंकड़ा शनिवार सुबह 99 हजार 572 हो गया। जेयर बोल्सोनारो की सरकार अब खुद को मजबूर महसूस कर रही है। शुक्रवार को ट्रेड मिनिस्टर ने कहा- हम हर किसी को मिलकर ये नहीं समझा सकते कि गाइडलाइन्स का पालन करना क्यों जरूरी है।

फ्रांस : फिर बढ़ी मुश्किल
फ्रांस में अप्रैल के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मामले सामने आए। शुक्रवार को 2288 नए संक्रमित मिले। यह अप्रैल के बाद एक दिन में मिले मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है। इतना ही नहीं पिछले हफ्ते कुल 9330 केस मिले। इसके साथ ही कुल संक्रमितों का आंकड़ा अब 1 लाख 97 हजार 921 पर पहुंच गया है। सरकार के मुताबिक, देश में अब 788 क्लस्टर हैं। इनकी वजह से संक्रमित बढ़ रहे हैं। यात्रा पर लगी पाबंदियां हटाना भी सरकार के लिए अब मुसीबत का सबब बन गया है। कुछ पाबंदियां दोबारा लगाई जा सकती हैं।

शुक्रवार को पेरिस के एक म्यूजियम के बाहर मास्क लगाए महिला। फ्रांस में दो हफ्ते बाद एक दिन में 200 से ज्यादा मामले सामने आए। सरकार यहां फिर सख्त पाबंदियां लगाने पर विचार कर रही है।

इटली : यात्रियों से संक्रमण
इटली संक्रमण के कहर से उबरने की कोशिश कर रहा है। लेकिन, यात्रियों की वजह से परेशानी बढ़ती दिख रही है। शुक्रवार को यहां 552 नए मामले सामने आए। सिर्फ दो हफ्ते पहले तक यहां एक दिन में 200 से ज्यादा मामले सामने नहीं आए थे। लोगों ने संक्रमण के डर से सभी सावधानियां सख्ती से बरतना शुरू की थीं। इसका असर भी हुआ था। हेल्थ मिनिस्ट्री का कहना है कि दूसरे देशों से आने वाले लोगों और घरेलू यात्रियों की वजह से केस बढ़ रहे हैं। हालात, फिर बेकाबू हों, इसके पहले कड़े कदम उठाए जाने की तैयारी शुरू हो गई है।

वेनिस की एक टूरिस्ट साइट के बाहर सैनिटाइजेशन करता कर्मचारी। इटली में हेल्थ मिनिस्ट्री का कहना है कि दूसरे देशों से आने वाले लोगों की वजह से देश में मामले बढ़ रहे हैं। यहां टूरिस्ट प्लेसेस पर सैनिटाइजेशन किया जा रहा है। हर जगह थर्मल स्कैनर भी लगाए गए हैं।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
ब्राजील के रियो डि जेनेरियो के एक हॉस्पिटल में शुक्रवार को मरीज की फिजियोथैरेपी करती डॉक्टर। यहां ज्यादातर संक्रमितों को सांस लेने में दिक्कत पाई गई है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि इसकी एक वजह पॉल्यूशन है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2XHbBIX

No comments

Powered by Blogger.