Header Ads

बड़े शहरों से 300 किमी के दायरे में लोग खुशनुमा जगह तलाश रहे, ट्रेवल कंपनियों ने 700 नए टूरिस्ट स्पॉट तलाशे; होटल बुकिंग में भी 30% का सुधार

(मनीषा भल्ला) देश की टूरिज्म इंडस्ट्री पटरी पर आ रही है। होटल और ट्रेवल इंडस्ट्री से जुड़ी कंपनियां मेकमाय ट्रिप, गोबीबो और ओयो के आंकड़े बताते हैं कि लोग लॉकडाउन की उदासी दूर करने के लिए छोटे और घर के आसपास ही वीकेंड टूरिस्ट स्पॉट तलाश रहे हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि 2019 में 5 करोड़ भारतीयों ने विदेश यात्रा की, लेकिन कोरोना की वजह से अगले दो साल लोग विदेश जाने से परहेज करेंगे। देश में ही डेस्टिनेशन तलाशेंगेे। ऐसे में अगले छह महीने में टूरिज्म सेक्टर में जबरदस्त ग्रोथ आने की उम्मीद दिख रही है।

हर साल 5 लाख करोड़ टूरिज्म से आता है

एसोचैम की टूरिज्म कमेटी के चेयरमैन सुभाष गोयल बताते हैं कि देश में हर साल 5 लाख करोड़ रुपए का रोजगार टूरिज्म से आता है। जीडीपी में 10% हिस्सा टूरिज्म का है। करीब 7.5 करोड़ लोग इससे जुड़े हैं। कोविड की वजह से करीब 3.8 करोड़ लोगों के पास काम नहीं है। लेकिन, इन आंकड़ों से इतर सुभाष गोयल का कहना है कि धीमी रफ्तार के बावजूद टूरिज्म रिकॉर्ड तोड़ रफ्तार पकड़ेगा।

अनलॉक के बाद देश में पर्यटन का शुरुआती ट्रेंड भी यही बता रहा है। मेकमाय ट्रिप के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर विपुल प्रकाश बताते हैं कि लोग मेट्रो शहरों से 300 किमी की दूरी वाले डेस्टिनेशन के बारे में पूछताछ कर रहे हैं। सबसे ज्यादा मांग हिमाचल, उत्तराखंड, राजस्थान और गोवा की है।

आने वाले समय में हाइपर-लोकल ट्रेवल ही ट्रेंड करेगा। इसके अलावा धार्मिक टूरिज्म में भी जबरदस्त ग्रोथ दिख रही है। इसे देखते हुए 700 से ज्यादा नए टूरिस्ट स्पॉट तलाशे हैं, जिसके लिए 4000 शॉर्ट टर्म इंवेंटरी भी बनाई है।

अनलॉक के बाद होटल ऑक्यूपेंसी में 30% का सुधार

ओयो कंपनी के मुताबिक, अनलॉक के बाद से होटल ऑक्यूपेंसी में 30% का सुधार देखा गया है। बिजनेस सिटीज में होटल ऑक्यूपेंसी में 50% तक सुधार है। ओयो के सर्वे में रुझान बता रहे हैं कि हैदराबाद, गुड़गांव, कोलकाता, बेंगलुरू, अहमदाबाद में जल्द ही बिजनेस मीटिंग की वजह से होटल ऑक्यूपेंसी बढ़ेगी।

इक्सिगो कंपनी के मुताबिक, हालिया ट्रेंड बताते हैं कि लोग वायरस के साथ घूमना, रहना सीख रहे हैं। अनलॉक के बाद हर हफ्ते हमारे प्लेटफॉर्म पर 40-50% टिकट बुकिंग बढ़ रही है।

कोविड ने डेस्टिनेशन वेडिंग बिजनेस पर भी असर डाला है। वेडिंग्स डॉट इन के सीईओ संदीप लोधा बताते हैं कि लॉकडाउन में रद्द हुए वेडिंग इवेंट में से 83.6% री-शेड्यूल हुए हैं। जुलाई में ही वेडिंग वेन्यू की 25,600 क्वेरीज आई हैं। हमारे सर्वे में 42% लोग बिना मुहूर्त ही शादी करना चाहते हैं। इसे देखते हुए 20 नए वेडिंग डेस्टिनेशन बनाए गए हैं।

वर्क फ्रॉम टूरिस्ट स्पॉट का ट्रेंड

आईटी कंपनियां गोवा में 200 से ज्यादा विला बुक करा चुकी हैं। वर्क फ्रॉम होम के लिए आईटी प्रोफेशनल गोवा जैसे टूरिस्ट स्पॉट चुन रहे हैं। गोवा में हायर विला के मैनेजर सिधांशु पाटिल बताते हैं कि आईटी कंपनियों ने अभी तक 250 से ज्यादा विला हमसे किराए पर लिए हैं। इनका मासिक किराया डेढ़ से दो लाख रुपए है। गोवा होटल एसोसिएशन के सचिव जैक सुखीजा का कहना है कि गोवा में जितनी भी होटल ऑक्यूपेंसी है, उसमें आधे से ज्यादा वर्क फ्रॉम होम वालों की वजह से है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
आईटी कंपनियां गोवा में 200 से ज्यादा विला बुक करा चुकी हैं। वर्क फ्रॉम होम के लिए आईटी प्रोफेशनल गोवा जैसे टूरिस्ट स्पॉट चुन रहे हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31EASVz

No comments

Powered by Blogger.