Header Ads

अफ्रीका पोलियो वायरस से मुक्त हुआ, प्रभावित आखिरी देश नाइजीरिया में चार साल से कोई नया मामला नहीं; अब पाकिस्तान और अफगानिस्तान में बची यह बीमारी

एक ओर जहां दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है, वहीं अफ्रीका से अच्छी खबर आई है। अफ्रीका अब पोलियो वायरस से मुक्त हो चुका है। अफ्रीकी देश नाइजीरिया में ही पोलियो वायरस बचा था। पिछले चार सालों से यहां पोलियो का एक भी मामला नहीं आया है।

डब्ल्यूएचओ के अफ्रीका रीजन के कार्यालय ने अफ्रीका महाद्वीप को पोलियो मुक्त घोषित किया। डब्ल्यूएचओ ने 1988 में वैश्विक पोलियो उन्मूलन पहल (जीपीईआई) शुरू की थी। तब से लेकर अब तक लगभग पूरी दुनिया से पोलियो को खत्म किया जा चुका है। हालांकि, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में अभी भी यह वायरस मौजूद है।

नाइजीरिया के नेशनल पोलियोप्लस कमेटी के चेयरमैन तुंजी फुंसो ने कहा कि हम 1996 से इस काम को पूरा करने के लिए मेहनत कर रहे हैं। हमें अभी भी कई जरूरी काम करने हैं। लेकिन इस उपलब्धि से पता चलता है कि राजनीतिक और आर्थिक सहयोग से पूरी दुनिया से पोलियो को खत्म किया जा सकता है।

पोलियो मुक्त होने के मायने
जब किसी देश में चार साल तक पोलियो का कोई नया मामला नहीं सामने आता तो उसे पोलियो मुक्त मान लिया जाता है। अफ्रीका में केवल नाइजीरिया में ही पोलियो वायरस था। 2016 से यहां भी कोई नया मामला सामने नहीं आया है।1996 में पूरे अफ्रीका में करीब 75 हजार बच्चे पोलियो का शिकार हुए थे। इस दौरान अफ्रीका का हर एक देश प्रभावित था। हालांकि, 100 करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले अफ्रीका में पर्याप्त निगरानी की कमी से पोलियो के कुछ मामले छूट जाने की भी आशंका है।

पाकिस्तान और अफगानिस्तान में बचा पोलियो
अफ्रीका को पोलियो वायरस से मुक्त किए जाने के बाद अब केवल पाकिस्तान और अफगानिस्तान ही ऐसे देश बचे हैं जहां अभी तक पोलियो वायरस मौजूद है। सरकार का ढुलमुल रवैया और स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले से यहां बीमारी जटिल हो गई है। पाकिस्तान सरकार ने हाल ही में 2 महीने में 11 हजार पोलियो वर्कर्स को नौकरी से हटाया है। यहां आठ महीने में पोलियो के 64 नए मामले सामने आए हैं।

भारत 2014 में पोलियो मुक्त हुआ था
डब्लूएचओ ने 27 मार्च 2014 को भारत को पोलियो मुक्त घोषित किया था। इस दिन दिल्ली स्थित डब्लूएचओ के कार्यालय में आयोजित समारोह में दक्षिण-पूर्व एशिया को पोलियो मुक्त क्षेत्र घोषित किया गया। इसी के तहत भारत भी पोलियो मुक्त घोषित हो गया था। कभी भी एक देश को अकेले पोलियो मुक्त घोषित नहीं किया जाता है। डब्ल्यूएचओ अपने उस रीजन को पोलियो मुक्त घोषित करता है।

यह खबर भी पढ़ सकते हैं...
1. कैसे होगी पोलियो की रोकथाम:पाकिस्तान ने 2 महीने में 11 हजार पोलियो वर्कर्स को नौकरी से हटाया; 8 महीने में 64 पोलियो केस सामने आए



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
1996 में अफ्रीका महाद्वीप का हर एक देश पोलियो वायरस से प्रभावित था।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3ll1TGf

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.