Header Ads

इलेक्शन-डे से पहले 9.5 करोड़ वोट पड़े, टूटेंगे सारे रिकॉर्ड, आखिरी वोटिंग से पहले झड़पें और सड़कें जाम

इलेक्शन-डे से पहले ट्रम्प और बाइडेन समर्थकों के बीच पूरे अमेरिका में तनाव, गुस्सा और कड़वाहट चरम पर पहुंच गई है। लेकिन यह वोटिंग कहीं अधिक परेशान करने वाले मोड़ पर जाकर खत्म हो रही है। बेवर्ली हिल्स जैसी जगहों पर हिंसक झड़पें होती दिखीं और लोगों ने रास्ते जाम किए। स्टोर मालिक अपनी खिड़कियों के बाहर प्लाई लगा रहे हैं, क्योंकि उन्हें अशांति की आशंका है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक बार फिर अमेरिकी चुनाव की अखंडता पर संदेह जाहिर किया है। उन्होंने रविवार को कहा- ‘वोटों की गिनती की प्रक्रिया का लंबे समय तक चलना भयावह है।’ चुनाव में जीत के लिए इलेक्टोरल कॉलेज के 270 वोट काफी अहम हैं और दोनों नेताओं के बीच टक्कर कड़ी दिख रही है। चुनाव में अहम भूमिका निभाने वाले राज्यों में ट्रम्प ने ताबड़तोड़ रैलियां की हैं। बाइडेन की रैलियों की तुलना में भीड़ भी ज्यादा दिखी है।

अमेरिकी इतिहास में 48% से कम अप्रूवल रेटिंग लेकर कभी कोई नहीं जीता

अमेरिका में चुनाव नतीजे के लिए एक दो हफ्ते तक इंतजार करना पड़ सकता है। 1904 से परंपरा रही है कि चुनाव के आखिरी दिन ही नए राष्ट्रपति का खुलासा होता रहा है। इस बार कोरोना की वजह से लोग डाक से वोट भेज रहे हैं। इनके पोलिंग बूथ तक पहुंचने और गिनती में समय लग सकता है। राष्ट्रपति ट्रम्प लंबे वक्त तक चलने वाली इस वोटिंग को धांधली बता रहे हैं और कोर्ट जाने के संकेत दे रहे हैं। पढ़िए ओपिनियन पोल के आधार पर कौन आगे चल रहा है...

जो फ्लोरिडा जीतता है, वही राष्ट्रपति बनता है...

1964 से फ्लोरिडा के मूड से पूरे अमेरिका के नतीजे का पता चलता रहा है, सिर्फ 1992 को छोड़कर। यानी राष्ट्रपति वही बनता है, जिसे फ्लोरिडा चुनता है। 2016 में ट्रम्प ने राज्य 1% मार्जिन से जीता था। इलेक्टोरल मत के लिहाज से यह तीसरा बड़ा राज्य है।

अगला राष्ट्रपति कौन होगा, ये दो संभावनाएं...

अगर ट्रम्प फ्लोरिडा हार जाते हैं तो उनके जीतने की संभावना महज 1% रह जाएगी, फ्लोरिडा जीते तो लड़ाई में बने रहेंगे

  • एजेंसी-538 की रिसर्च के मुताबिक, अगर फ्लोरिडा में बाइडेन जीते तो ट्रम्प के जीतने की संभावना 11% से 1% रह जाएगी। क्योंकि क्लिंटन को 232 इलेक्टोरल मत मिले थे, जिसमें से एक भी बाइडेन नहीं हार रहे हैं। फ्लोरिडा के 29 मत जुड़ गए तो 261 हो जाएंगे और उन्हें 10 राज्यों से मात्र एक जीतना होगा। ऐसा हुआ तो मंगलवार को नए राष्ट्रपति का पता चल जाएगा।
  • अगर ट्रम्प ने फ्लोरिडा जीत लिया तो मामला फंस जाएगा क्योंकि 538 के अनुसार ट्रम्प के पास केवल 60 सुरक्षित इलेक्टोरल वोट हैं। अगर झुकाव के अनुसार देखें तो ट्रम्प के पास कुल 134 वोट ही हो रहे हैं। ऐसे में अगर उन्हें फ्लोरिडा के 29 वोट मिल भी जाते हैं तो भी उन्हें जीतने के लिए 107 मत और चाहिए होंगे। ऐसे में रिजल्ट में एक हफ्ते तक की देरी हो सकती है।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
न्यूयॉर्क के मारियो एम क्यूमो ब्रिज पर ट्रम्प समर्थकों ने जाम लगा दिया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/327n86N

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.