Header Ads

प्रेसिडेंट इलेक्ट बाइडेन कोरोना और क्लाइमेट चेंज पर बड़ा फैसला ले सकते हैं, पर ट्रम्प हार मानने को तैयार नहीं

अमेरिकी चुनावों में डेमोक्रेट जो बाइडेन और कमला हैरिस की जीत हो चुकी है। 20 जनवरी को बाइडेन शपथ लेंगे। डेमोक्रेट्स ने सत्ता हस्तांतरण की तैयारी भी शुरू कर दी है। बाइडेन और हैरिस ने इसके लिए वेबसाइट BuildBackBetter.com और ट्विटर अकाउंट @Transition46 भी बनाया है। वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अभी भी हार मानने के लिए तैयार नहीं हैं। उन्हें नतीजों पर अब भी शक है। बाइडेन को 279 और ट्रम्प को 214 इलेक्टर्स वोट मिले हैं। जीत के लिए 270 वोट जरूरी होते हैं।

न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, बाइडेन की कोरोना से लड़ने के लिए एक टास्क फोर्स बनाने की योजना है। कोरोना से लड़ाई में ट्रम्प की नाकामी को बाइडेन ने प्रमुख मुद्दा बनाया था। वहीं, बाइडेन पेरिस क्लाइमेट समझौते दोबारा से जॉइन करने पर भी विचार कर रहे हैं। साथ ही वे मुस्लिम देशों पर लगाए ट्रैवल बैन के ट्रम्प के ऑर्डर को उलट सकते हैं।

ट्रम्प के बर्ताव पर ज्यादातर रिपब्लिकन दिग्गज खामोश
पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश (74) ने कहा है कि चीजें तय हो चुकी हैं। अलग तरीके से अपनी बात रखते हुए बुश बोले कि मैंने प्रेसिडेंट इलेक्ट बाइडेन और कमला हैरिस को कहा था कि उन्हें मिल रही शुभकामनाओं को और विस्तार देना चाहिए। क्या ट्रम्प को दोबारा गिनती का हक है, इस पर बुश ने कहा कि अमेरिकियों को भरोसा है कि चुनाव निष्पक्ष तरीके से हुए हैं। हमारी मजबूती बरकरार रहेगी। चीजें साफ हो चुकी हैं।

बुश के मुताबिक, ‘राजनीतिक मतभेद होना अलग बात है, पर मैं जानता हूं कि बाइडेन अच्छे व्यक्ति साबित होंगे और देश को एकजुट करेंगे। हमें अपने परिवार, पड़ोसियों, देश और भविष्य के लिए साथ आना होगा।’



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन रविवार को विल्मिंगटन के कब्रगाह में परिवार के लोगों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/358ZVTm

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.