Header Ads

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ने लिखा- राहुल गांधी में सब्जेक्ट का मास्टर होने की योग्यता या जुनून नहीं

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने मेमोइर (जीवनी) में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जिक्र किया है। ओबामा का कहना है, "राहुल उस स्टूडेंट की तरह हैं जो टीचर को इम्प्रेस करने के लिए तो उत्सुक (ईगर) है, लेकिन सब्जेक्ट का मास्टर होने के मामले में योग्यता या जुनून की कमी है। यह राहुल की कमजोरी है।" ओबामा जब सत्ता में थे तब, राहुल गांधी कांग्रेस के उपाध्यक्ष थे।

'मनमोहन सिंह शांत और ईमानदार'
मनमोहन सिंह के कार्यकाल वाली UPA सरकार के समय नवंबर 2009 में ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल भारत दौर पर आए थे, तब मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरुशरण कौर ने ओबामा परिवार के लिए डिनर भी रखा था। बराक ओबामा, अमेरिका के पहले अफ्रीकी-अमेरिकी राष्ट्रपति थे, उन्होंने अपने कार्यकाल में दो बार भारत की यात्रा की थी। ओबामा ने मनमोहन सिंह को शांत और ईमानदार बताया है।

ओबामा की 768 पेज की किताब 17 नवंबर को रिलीज होगी। द न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसके कुछ हिस्सों का रिव्यू पब्लिश किया है। ओबामा ने अपनी किताब में दूसरे देशों के नेताओं के बारे में भी लिखा है। रूस के प्रेसिडेंट ब्लादिमीर पुतिन को शारीरिक रूप से साधारण बताया है। अमेरिका के प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के बारे में लिखा है कि वे सज्जन, ईमानदार और वफादार हैं। बाइडेन को लगे कि उन्हें तवज्जो नहीं मिल रही, तो वे गुस्सा हो सकते हैं, यह ऐसी क्वालिटी है जो किसी युवा से डील करते वक्त माहौल बिगाड़ सकती है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बराक ओबामा जब भारत आए थे, तब राहुल उनसे मिले थे।- फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2JVb3eq

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.